हम अपनी वेबसाइट पर आपका अनुभव सुधारने के लिए कुकीज़ इस्तेमाल करते हैं। इस वेबसाइट में ब्राउज़ करना जारी रखकर आप हमें कुकीज़ के इस्‍तेमाल की अनुमति दे रहे हैं। कुकीज़ को पढ़कर अधिक जानकारी हासिल करें ओके

 

थाई ट्रिविया

नाम

थाई लोंगों का पहला नाम और फिर परिवार का नाम आता है, साथ ही पैदा होते ही परिवार के किसी बुजु़र्ग सदस्य द्वारा उन्हें दिया गया एक निकनेम होता है। लोगों को हमेशा उनके निकनेम से संबोधित किया जाता है, जिसके पहले आदरार्थक शब्‍द ‘खुन’ लगाया जाता है, वैसे ही जैसे हम श्री, कुमारी या श्रीमती लगाते हैं।

ऋतुएं

थाईलैंड में दो तुएं होती हैं – सर्द और सूखी (नवंबर से मई की शुरूआत तक) और मॉनसून (मई-मध्य से लेकर सितंबर तक)। अक्तूबर आधार तु का एक भाग होता है जब मौसम साफ़ होना शुरू होता है और सर्दी बढ़ती है। उष्णकटिबंधीय देश होने के नाते, थाईलैंड में पूरे साल बारिश होती है। पूरी सर्दी में एकदम सूखे दिन होते हैं और सूखे मौसम में दिन भर बारिश भी पड़ती है। साल भर नमी और गर्मी बढ़ी रहती है।

दिमाग ठंडा रखें

थाईलैंड के समाज में गुस्सा करने या उतावलापन दिखाने को अशिष्टता माना जाता है। ऐसे करने से सभी पक्षों को परेशानी होती है, क्योंकि खुद पर नियंत्रण न रख सकने वाला व्यक्ति या तो खुद इज्जत गंवा देता है या दूसरी की बेइज्जती कर देता है। आपको यहां अक्सर सुनने को मिलेगा जय येन, जिसका अनुवाद होता है ‘अच्छे दिलवाला’ यानी ‘दिमाग ठंडा रखो’ होता है। थाईलैंड में ऐसा बहुत कम होता है कि गुस्सा करने से इच्छित परिणाम मिले – सबसे बढ़िया परिणाम पाने के लिए, चाहे कुछ हो जाए, अपना दिमाग ठंडा रखें और मुस्कुराते रहें।

थाईलैंड में भोजन

थाईलैंड के लोगों को अपने भोजन पर बहुत गर्व है, जो तर्कयुक्त भी है। भोजन में गर्म मिर्च, नमकीन और मिठास का मिश्रण होता है – जिसे हमेशा चावल के साथ परोसा जाता है (अगर वो कोई नूडल डिश न हो तो)। अधिकतर डिश कांटे और चम्मच से खाई जाती हैं, दाएं हाथ में चम्मच और बाएं हाथ में कांटा लिया जाता है, केवल चम्मच को होठों से छुआ जाता है। चीनी डिश के तौर पर, नूडल आमतौर पर चॉपस्टिक्स और सूप के चमचे के साथ से खाए जाते हैं। खाना खाते वक्त ज़्यादातार कांटे और चम्मच का इस्तेमाल किया जाता है। हालांकि नूडल अक्सर चॉपस्टिक्स से ही खाए जाते हैं। उत्तरी थाई पकवान, स्टिकी राइस (चिपचिपे चावल), अक्सर दाएं हाथ की उंगलियों से खाया जाता है। ग्रुप में ढेर से अलग अलग डिशों को ऑर्डर देकर मंगाकर खाना भोजन करने का पारंपरिक थाई तरीका है।

मोल-भाव करना

बाज़ारों में शॉपिंग करते वक्त, आपको ऊंचे दाम बताए जाएंगे क्योंकि उन्हें आपसे मोलभाव की अपेक्षा रहती है। बाज़ार में मौजूद किसी भी स्मृति चिह्न की कीमत 100-200 बात से ज्‍यादा नहीं है, लेकिन मोलभाव करते वक्त कुछ बातें को दिमाग में रखना ज़रूरी होता है।

  1. सबसे पहले, दामों की तुलना करें और अलग अलग दुकानदारों के पास जाकर दाम पूछें। आसानी से नज़र आने वाले स्टालों में दाम अधिकतर ज़्यादा मिलेंगे और वहां मोलभाव में मुश्किल होगी।
  2. हमेशा मुस्कुराएं और शांत रहें। झुंझलाहट या अशिष्टता न दिखाएं – मज़े लेने की कोशिश करें।
  3. शॉपिंग के लिए चारों ओर घूमें – पहले स्‍टॉल से सामान नहीं खरीदें।
  4. जब आपको पहली बार दाम बताया जाए, तो मुस्कुराकर डिस्काउंट मांगे ताकि मोलभाव की प्रक्रिया शुरू हो।
  5. अच्छे दाम पाने के अच्छी रणनीति यह है कि आप आगे की ओर चलना शुरू करें। शायद विक्रेता आपके पीछे आए और आपके बताए दाम पर बेचने को राज़ी हो जाए।
  6. ये ध्‍यान रहे कि ब्रांडेड सामानों के जैसे नामों वाला सामान खरीदना गैर-कानूनी है। ऐसा बहुत कम होता है कि ऐसा सामान अच्छी क्वालिटी का हो। 
  7. याद रहे कि अगर आप गाइड की सेवा लेते तो, उन्हें आपके द्वारा खर्चे गए हर बात पर कमीशन मिलेगा, इस तरह से आप ज्‍यादा पैसा खर्च देंगे।

 

अधिक देखें

आत्मा गृह

हरेक इमारत के सामने दिखने वाले छोटे रंगीन घरों को सानफ़्राफ़म – आत्मा गृह कहते हैं। जीववादी मिथकों के अनुसार, हर चीज़ में आत्मा होती है, इसलिए जब किसी जमीन पर इमारत बनाई जाती है, तब आत्माओं को रहने देने के लिए सानफ़्राफ़म बनाकर दिया जाता है &nd...

हरेक इमारत के सामने दिखने वाले छोटे रंगीन घरों को सानफ़्राफ़म – आत्मा गृह कहते हैं। जीववादी मिथकों के अनुसार, हर चीज़ में आत्मा होती है, इसलिए जब किसी जमीन पर इमारत बनाई जाती है, तब आत्माओं को रहने देने के लिए सानफ़्राफ़म बनाकर दिया जाता है – जो घर और बगीचे की अभिभावक होती हैं – उस क्षेत्र में रहती हैं। 

आत्मा गृह आमतौर पर संपत्ति की उस जगह पर बनाए जाते हैं जहां सबसे ज़्यादा धूप लगती हो – इमारत की छाया से दूर। किसी में नर्तकियों, पशुओं और सेवकों की मूर्तियां होती हैं, और उन्हें रोज़ धूप, फल, फूल की मालाएं और सोडा चढ़ाया जाता है। थाई लोगों का विश्वास है कि अगर आत्माएं खुश न रहें, तो वे घर के लोगों को बीमारी या दुर्भाग्‍य अपने चपेट में लेते हैं। आत्मा गृहों का बौद्ध धर्म से कोई संबंध नहीं है।

अधिक देखें

लोगों को संबोधित करें – पाई या नौंग कहकर

थाई एक दूसरे को उम्र के मुताबिक अलग अलग तरह से संबोधित करते हैं। बुज़ुर्ग लोगों के नाम के आगे पाई जोड़ते हैं, जबकि छोटे लोगों के आगे नौंग जोड़ते हैं, स्थानीय भाषा में इसका अर्थ छोटा भाई या बहन होता है। देखभाल करने वाले स्टाफ़, अजनबियों, सर्विस प्रोवाइडरों – जैसे लोगों को पाई या नौंग कहना आम बात है, अगर आपको उनका नाम पता नहीं हो तो।

दलालों से कैसे निपटें

आक्रामक विक्रेताओं या दलालों से निपटने का सबसे बढ़िया तरीका है कि उन्हें नज़रअंदाज़ करें, या उनकी तरफ़ देखकर मुस्कुराएं, अपना सिर ना में हिलाएं और बिना रुके चलते रहें। उनके साथ बातचीत में पड़ेंगे तो वो आपको उलझाकर अपना उल्लू सीधा कर लेंगे।

किसी खास अच्छी दुकान या रेस्टोरेंट तक ले जाने के लिए अपनी गाड़ी में बैठने को कहते किसी अजनबी की टुक-टुक या कैब में कभी न घुसें क्योंकि उन्हें उसका कमीशन मिलता है और आपसे ज्‍यादा शुल्क वसूला जाएगा।

टाइम शेयर विक्रेताओं पर कभी भरोसा न करें।

दलालों से ड्रग्स कभी न खरीदें। पकड़े जाने पर आपको जेल होगी या आपसे बहुत सा धन ऐंठा जाएगा।

अपने कदमों पर ग़ौर करें

बौद्ध धर्म में, सिर को शरीर का सबसे अधिक सम्मानित भाग माना जाता है और पैरों को सबसे निचला दर्जा दिया जाता है। आमतौर पर, (बच्चों सहित किसी भी) थाई व्यक्ति का सिर छूना, या अपने पैर से कुछ छूना या पैर से कहीं इशारा तक करना बेहद अशिष्‍ट माना जाता है, अपने पैरों को बहुत ऊंचा कभी न उठाएं, और खास ध्यान रहे कि अपने पैरों को बुद्ध की किसी मूर्ति या राजा की तस्वीर की ओर करके कभी भी नहीं बैठें।

जूतों का शिष्टाचार

किसी के घर या किसी मंदिर में घुसने से पहले हमेशा अपने जूते उतारें। अगर आपको किसी दुकान के बाहर ढेरों जूते दिखें, तो इसका मतलब है कि आपको भी वहां घुसने से पहले अपने जूते उतारने होंगे। किसी कमरे में घुसने से पहले जूते उतारना सम्मान प्रदर्शित करने का संकेत होता है।

स्थान

की जानकारी

52 Thaweewong Road
Patong, Kathu,
Phuket 83150

+66 (0) 76 370 200

स्थानीय गाइड

हॉलिडे इन रिसॉर्ट फ़ुकेट पैटोंग तट के सामने, सुनहरी रेत से कुछ कदम दूर और पैटोंग बाज़ार, होटल और मनोरंजन से कुछ देर पैदल की दूरी पर स्थित है।

 
© 2019। सर्वाधिकार सुरक्षित। अधिकतर होटल निजी संपत्ति हैं और निजी लोगों द्वारा संचालित हैं। ये IHG या उसके किसी ब्रांड की ऑफ़िशियल साइट नहीं है।